39 दिनों बाद हनीप्रीत गिरफ्तार

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गोद ली बेटी हनीप्रीत को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उसे चंडीगढ़ के पास मोहाली जिले के जीरकपुर से गिरफ्तार किया गया। पंचकूला पुलिस की टीम ने उसे पंजाब पुलिस की मदद से गिरफ्तार किया गया है। हनीप्रीत को 39 दिन बाद पकड़ा गया। हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत की गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है। बताया जाता है कि पकड़े जाने के बाद हनीप्रीत ने कहा कि पापा (गुरमीत राम रहीम) के जेल जाने से अकेली हो गई हूं। पुलिस के अनुसार, उसे बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा। सोमवार रात चंडीगढ़ आई थी और फिर जीरकपुर गई: पुलिस का कहना है कि हनीप्रीत को जीरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया है। पुलिस अब उसे पंचकूला की अदालत में पेश करेगी। पुलिस उसे कोर्ट लेकर जा रही है। पंचकूला के डीसीपी मनवीर सिंह ने हनीप्रीत की गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है। उनके मुताबिक, हनीप्रीत को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया जाएगा। बताया जाता है कि पुलिस हनीप्रीत से (शेष पेज 8 पर) पूछताछ कर रही है। उसने पुलिस के सामने खुलासा किया है कि वह पिछले दिनों दिल्ली और राजस्थान में थी। वह सोमवार देर रात चंडीगढ़ आई थी अैर इसके बाद वह जीरकपुर पहुंची थी। हनीप्रीत के साथ एक और महिला हिरासत में बताया जा रहा है कि हनीप्रीत पिछले दो दिनों से जीरकपुर में ही रूकी हुई थी। जीरकपुर में डेरा सच्चा सौदा के कई अनुयायी रहते हैं। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि जीरकपुर में हनीप्रीत कहां और किस के घर रूकी हुई थी। सूत्रों के अनुसार, हनीप्रीत के साथ एक और महिला को भी हिरासत में लिया गया है। फिलहाल उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही है कि वह कौन है और उसे किस आरोप में हिरासत में लिया गया है। इनोवा कार में गिरफ्तार किया गया हनीप्रीत को पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि एसीपी मुकेश मल्होत्रा के नेतृत्व में गठित एसआईटी ने इनोवा कार से हनीप्रीत को जीरकपुर-पटियाला रोड के पास गिरफ्तार किया है। हनीप्रीत पुलिस को देखते ही भागने की कोशिश करने लगी, लेकिन पुलिस की टीम ने उन्हें चारों ओर से घेर लिया। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि एसआईटी टीम में वरिष्ठ महिला पुलिस अधिकारी भी मौजूद थीं। हनीप्रीत को बुधवार को कोर्ट में डिमांड के लिए फाइल तैयार करने के बाद पेश किया जाएगा। उससे पुलिस फिलहाल पूछताछ कर रही है। पुलिस उपायुक्त चावला ने बताया कि हनीप्रीत की तलाश के लिए सोमवार से 12-13 टीमें लगाई गई थीं। इससे पहले चर्चा गर्म थी कि वह पंचकूला में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर सकती है। गुरमीत राम रहीम के जेल जाने के बाद से लापता हनीप्रीत कथित तौर पर मंगलवार को टीवी चैनलों पर पहली बार सामने आई। इसके बाद पंचकूला पुलिस सक्रिय हो गई और पुलिस मुख्यालय में सरगर्मी बढ़ गई। पुलिस चाहती थी कि हनीप्रीत को सरेंडर करने से पहले गिरफ्तार कर लिया जाए। हरियाणा पुलिस ने इस संबंध में पंजाब पुलिस और चंडीगढ़ पुलिस को भी अलर्ट कर दिया था। पुलिस को आशंका थी कि हनीप्रीत पंचकूला, चंडीगढ़ और मोहाली में कहीं छिपी हो सकती है। इसके बाद तीनों जगह की पुलिस सक्रिय हो गई। इसी दौरान हनीप्रीत पुलिस की गिरफ्त में आ गई। एक निजी टीवी चैनल द्वारा कथित तौर पर हनीप्रीत से बातचीत दिखाए जाने के बाद हरियाणा पुलिस सक्रिय हो गई और हनीप्रीत पर घेरा कसने के लिए सक्रिय हो गए। इस कथित बातचीत में हनीप्रीत ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है। दूसरी ओर, इस चर्चा के बाद पंचकूला के पुलिस कमिश्नर का कहना था कि हनीप्रीत के बारे में पुलिस को कोई इनपुट नहीं मिला है। बता दें कि गुरमीत राम रहीम को साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद हनीप्रीत पर पंचकूला में हिंसा फैलाने का आरोप है। उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज है और वह 26 अगस्त से फरार थी। पुलिस उसकी तलाश में नेपाल, राजस्थान और मुंबई सहित कई जगहों पर छापे मार चुकी है। पिछले दिनों उसने दिल्ली हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया।