माल्या लंदन में गिरफ्तार, फिर चंद मिनटों में मिली जमानत

लंदन। बैंकों के कर्जदार विजय माल्या को लंदन में गिरफ्तार करने के कुछ ही मिनटों बाद जमानत मिल गई। माल्या को ईडी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया था। बता दें कि इससे पहले भी कुछ महीने पहले माल्या को गिरफ्तार किया गया था और उस बार भी उन्हें गिरफ्तारी के कुछ देर बाद जमानत पर छोड़ दिया गया था। बताया जा रहा है कि इस बार की गिरफ्तारी उसी मामले में आगे की कार्रवाई है। माल्या के ऊपर कुछ और आरोप भी लगाए जा सकते हैं। गौर करने वाली बात है कि 6 महीने के भीतर माल्या की यह दूसरी गिरफ्तारी है। ईडी की चार्जशीट के चलते हुई गिरफ्तारी: बता दें कि पहली बार माल्या की गिरफ्तारी सीबीआई द्वारा फाइल की गई चार्जशीट के आधार पर की गई थी। माल्या की दूसरी गिरफ्तारी ईडी द्वारा लंदन कोर्ट के सामने फाइन की चार्जशीट और साक्ष्यों के आधार पर की गई है। कोर्ट ने ईडी द्वारा फाइल की गई चार्जशीट को संज्ञान में लिया जिसके बाद माल्या की गिरफ्तारी हुई। पहले कब हई थी गिरफ्तारी: माल्या को इससे पहले वेस्टमिंस्टर कोर्ट के आदेश के बाद 18 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि उस वक्त (शेष पेज 8 पर) कुछ घंटों बाद ही माल्या को जमानत मिल गई थी। क्या है माल्या का मामला? इससे पहले, ब्रिटेन की सरकार ने भारत के प्रत्यर्पण के आग्रह को जिला जज को भेज दिया था। यह माल्या को भारत लाने और उन पर मुकदमा चलाने की दृष्टि से पहला कदम था। माल्या की बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 9,000 करोड़ रूपये से अधिक का कर्ज बकाया है। कब से लंदन में हैं माल्या? माल्या पिछले साल 2 मार्च को ब्रिटेन चले गए थे। जबकि इसके कुछ दिन बाद ही उच्चतम न्यायालय ने माल्या को अपने पासपोर्ट के साथ व्यक्तिगत रूप से 30 मार्च, 2016 को पेश होने को कहा था। भारत ने इस साल 8 फरवरी को औपचारिक तौर पर ब्रिटेन सरकार को भारत-ब्रिटेन प्रत्यर्पण संधि के तहत माल्या के प्रत्यर्पण का औपचारिक आग्रह किया था।