किसान आंदोलन पर बोले शिवराज

'जब तक शांति बहाली नहीं, तब तक जारी रहेगा उपवासÓभोपाल। मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के 10वें दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में शांति बहाली के लिए उपवास पर हैं। उन्होंने शाम को कहा कि जब तक राज्य में शांति बहाली को लेकर वे आश्वस्त नहीं हो जाते तब तक उपवास जारी रहेगा। इस बीच प्रदेश के कृषि मंत्री जीएस बिसेन ने इस मामले में एक विवादास्पद बयान दे दिया है। उन्होंने कहा, मध्यप्रदेश में कर्जमाफी का स्थान नहीं बनता, क्योंकि हमनें किसान से ब्याज नहीं लिया, तो किस बात का कर्ज माफ होगा। भोपाल में भेल मैदान में किसानों से बातचीत से पहले शिवराज ने कहा कि किसान के बिना मध्य प्रदेश आगे नहीं बढ़ सकता है। मैं हमेशा से किसानों के साथ खड़ा रहा हूं। हमारी सरकार ने मालवा को रेगिस्तान बनने से बचाया। प्रदेश की 40 लाख एकड़ जमीन की सिंचाई की व्यवस्था हुई। पिछले साल हमने प्याज खरीद कर किसानों को राहत दी थी। एक-एक प्याज खरीदा जाएगा, किसानों की मेहनत बेकार नहीं जाने दी जाएगी। 'मंदसौर की घटना से अंदर तक हिल गयाÓ शिवराज ने कहा, मंदसौर की घटना से अंदर तक हिल गया। इसका मुझे अफसोस है। मृतकों को हम वापस नहीं ला सकते हैं, लेकिन उनके परिजनों के साथ हमेशा खड़ा रहूंगा। मंदसौर की घटना की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। अभी प्रयास नहीं किया गया तो ये शांत प्रदेश हमेशा के लिए बिगड़ जाएगा। उन्होंने कहा, मन में पीड़ा है इसलिए उपवास पर बैठ रहा हूं। ऐसी परिस्थितियां पैदा हुई हैं तो मैंने फैसला लिया है कि खुद को तकलीफ दूंगा। सिर्फ पानी पीकर उपवास करूंगा। जब तक प्रदेश में शांति नहीं होती तब तक उपवास करूंगा। इसी मैदान से चलाउंगा सरकार सीएम ने कहा कि इसी मैदान में लोगों से चर्चा करूंगा। अलग-अलग संगठन के लोग यहां आएं, किसान प्रतिनिधिमंडल से चर्चा करूंगा। यहीं पर सरकार के फैसले लूंगा। पूरा मंत्रीमंडल यहीं से चलेगा, इससे प्रदेश में शांति का संदेश दूंगा।